सौंफ के ऐसे फायदे जो आपने सोचे भी नहीं होंगे


सौंफ के ओषधीय गुण



सौंफ हर घर में उपलब्ध होती है और मसाले के रूप मे भी इसका प्रयोग किया जाता है इसकी प्रकृति ठंढी है और इसका लेटिन नाम “ फोनिक्युलम वलगेरे ” है | सौंफ का प्रधान क्रिया पाचन संस्थान पर होती है | भोजन करने के नित्य एक चम्मच सौंफ का सेवन शरीर को स्वस्थ रखता है और भोजन को पचाने में मदद करता है |


सौंफ में कई गुणकारक तत्व होते है इसमें भरपूर मात्रा में पौष्टिक तत्व भी होते है इसके पौष्टिक तत्वों में प्रोटीन , लिपिड , कैल्शियम , आयरन , जिंक ,सिलेनियम , पोटेशियम और सोडियम होते है |


यदि आपको अधिक निद्रा की शिकायत रहती है , हर समय नींद ,सुस्ती आती है , तो १० ग्राम सौंफ को आधा लीटर पानी में उबालकर चौथाई रह जाने पर थोडा स नमक मिलाकर  सुबह –शाम ५ दिन तक पिये ,इससे नींद कम आएगी | यदि अनिद्रा की शिकायत रहती है तो १५ ग्राम सौंफ आधा लीटर पानी में उबाले , चौथाई रहने पर छानकर उसमे गाय का २५० ग्राम दूध और १५ ग्राम घी मिलाए , इसमें स्वादानुसार चीनी मिलाकर सोते समय पीने से नींद अच्छी आती है |


यदि पेट में कब्ज हो तो चार चम्मच सौंफ एक गिलास पानी में डालकर उबाले और उसे छानकर पिए | इससे कब्ज दूर होती है सोते समय एक चम्मच पीसी हुई सौंफ को गर्म पानी में मिलाकर लेने भी कब्ज दूर होती है और पाचन क्रिया ठीक रहती है |


यदि पेट में भारीपन महसूस होता है तो नींबू के रस में भीगी हुई सौंफ को भोजन के बाद खाने से पेट का भारीपन दूर हो जाता है , भूख खूब लगती है और पेट भी अच्छी तरह से साफ हो जाता है | यदि पेट में दर्द हो तो सौंफ और सेंधा नमक या काला नमक पीसकर गर्म पानी के साथ चुटकी भर फाँक ले ,इससे आपको पेट के दर्द से आराम मिलेगा |


यदि आपको बार बार हिचकी आ रही है और बंद होने का नाम भी नहीं ले रही है तो सौंफ और चीनी समान मात्रा में मिलाकर चबाने से हिचकी तुरंत बंद हो जाएगी | यदि आपको जुकाम हो गया है तो १५ ग्राम सौंफ , ३ लोंग आधा लीटर पानी में उबाले , चोथाई पानी रहने [पर देसी चीनी मिलाकर घूँट घूँट पीने से जुकाम जल्दी ही ठीक हो जाता है |


खांसी होने व् कफ बढने पर दो चम्मच सौंफ , दो चम्मच अजवाइन आधा लीटर पानी में उबालकर हल्का गरम रहने पर २ चम्मच शहद मिलाकर छान ले , इसको तीन चम्मच प्रति घंटा पीने से खांसी दूर होती है |


यदि आपके शरीर में कोई कमजोरी है तो १०० ग्राम सौंफ सेंककर रखे ,और रोजाना रात को २ चम्मच चबाकर एक गिलास पानी पिए | ऐसा अगर आप एक महीने तक करते है तो आपके शरीर की कमजोरी दूर हो जायेगी | कमजोरी के कारण यदि चक्कर भी आता है तो पीसी हुई सौंफ और मिसरी समान मात्रा में मिलाकर खाना खाने के बाद रोजाना दो बार पानी से फाँक लेने से भी आराम मिलता है और चक्कर आना भी बंद हो जाता है |


यदि आपकी स्मरण शक्ति बहुत कम है और आप चाहते है की आपकी स्मरण शक्ति बढ़े तो यह उपाय अपनाये , समान मात्रा में सौंफ और मिसरी रातभर पानी में भीगी हुई बादाम गिरी – इन सबको पीसकर मिलाकर रोजाना गुनगुने दूध के साथ लेने पर स्मरण बढ़ती है तथा सिरदर्द में बहुत राहत मिलती है |


सौंफ सुगंधित , वातहर ,खाँसी आदि में लाभदायक है | इसका रोजाना सेवन करने से पाचन ठीक रहता है , इसलिए हर किसी को सोंफ का सेवन करते रहना चाहिए |


 

 

Comments

Popular posts from this blog

LeadArk Review Hindi 2020- Earn Daily 3000 Rs From Home

What is tally

मन और बुद्धि के बीच क्या अंतर है?