GoTask App Review in Hindi (Daily Earn 2500 Rs. )

Image
  GoTask App Review in Hindi :-   आज हम बात करने वाले हैं एक ऐसे ऐप के बारे में जिसमें आपको ₹1 का इन्वेस्टमेंट नहीं करना है और उस ऐप से Daily ₹24 मिलेंगे, मतलब अगर हम ₹24 को 30 से मल्टिप्लाई (24Rs*30Days = 720) करें तो हमारे टोटल ₹720 होंगे, मुझे लगता है कि ₹720 आपके मोबाइल के डाटा के लिए काफी है, उस App का नाम है    GoTask Ap p , इस App के बहुत सारे VIP Plan है जिनको अगर आप choose कर लेते हैं तो आप 24 रुपए के जगह Daily ₹2500 तक कमा सकते हैं तो चलिए जानते हैं  कैसे काम करता है उसके क्या प्लान है. GoTask App क्या है? GoTask App एक daily task कम्पलीट करने वाली app है जिसमे आपको डेली 12 टास्क कम्पलीट करना होता है और उसका स्क्रीनशॉट सेंड करना होता और उसके बदले में app आपको कुछ रुपये देता है। Joining Link:-   Join Now   इस लिंक पर आप को क्लिक करना है जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करते हो तो क्लिक करने के बाद एक पेज ओपन हो जाता है जैसे आप देख रहे हो ठीक है. यह आपको रजिस्टर पर क्लिक करना हो और उसके बाद सबसे ऊपर आपका मोबाइल नंबर डालना होता है, यहां पर सेकंड में आपका पासवर्ड डालना होता है और यहां

बहुत गहरा है इन बेघर लोगो का दर्द

बहुत गहरा है इन बेघर लोगो का दर्द


अपने ठौर - ठिकाने का  इंतजाम न होने के बावजूद पेट की मजबूरी अधिक संख्या में लोगो को गाँवो से शहरों की और ले जा रही है | ऐसे बेघरो की सहायता के लिए इंतजाम बहुत जरुरी है |

दिन भर मेहनत कर जब कोई बहुत थक जाता है , तब उसे यह सोच के बहुत सांत्वना मिलती है की अब तो घर पहुंचकर आराम ही करना है कल्पना कीजिये अपने देश के उन लाखो लोगो की जिनके लिए कंपकपाती ठण्ड को या मुसलाधार वर्षा ,छत के नाम पर खुला आसमान है और बिछोने के नाम पर फूटपाथ शहरों में सबसे अधिक चिंताजनक स्थिति में रहने वाले बेघर लोग ही है | वे एक और मौसम की मार सीधे अपने शरीर पर सहने को मजबूर है दूसरी और उनमे भूक का प्रकोप भी अधिक है |

कुपोषण के तो सभी शिकार है बीमारी सहने की क्षमता कम है पर फूटपाथ पर रहेगा उसे बीमारी व् दुर्घटना कीआशंका तो अधिक रहेगी यही कारण है की देश में हजारो बेघर लोग असमय मारे जाते है इस मौत से भी ज्यादा दर्दनाक कहानी उन बच्चो -बच्चियो की जिन्हें फुटपाथ की जिंदगी यौन उत्पीडन और नशे के ऐसी अंधी गली में धकेल देती है जिससे वापसी बहुत कटिन है

वैसे ही शहरों में महिलाओं की असुरक्षा इतनी  चिंता व्यक्त की जाती है तो बेघर महिलाओं को क्या सहना  पड़ता होगा |

इसकी कल्पना करना ही बेहद दर्दनाक अनुभव है तिस पर कानून व्यवस्था भी उनके प्रति सवेंदन हीन  है आवास के अभाव में फुटपाथ पर शांतिपूर्ण ढंग से रहने वाले व्यक्ति को भी कई बार पुलिस की मार झेलनी पड़ती है इतना ही नहीं भिखारियों को पकड़ने के अपने लक्ष्य पूरा करने के लिय उन्हें पुलिस पकड कर भिक्षु गृह में भी भेज सकती है |

सरकार को बेघरो की उचित संख्या का अनुमान लगाना चाहिए तथा इसके अनुकूल सुविधाए उपलब्द करवानी चाहिए | रैन बसेरो की संख्या बढ़ानी चाहिए तथा उनकी हालत में सुधार होना होना चाहिए

वहा सोने की जगह , बिस्तरो व् शोचालयो की सफाई सुनिचित हो  यह  भी हो सकता है की विभिन्न सरकारी इमारते या धार्मिक परोपकारी संस्थाओ के भवन रात के लगभग नौ - दश घंटे के लिए बेघर लोगो को उपलब्ध करा दिए जाए | बेघर लोगो का पहचान पत्र बनाकर अस्पताल का इलाज , राशन कार्ड आदि सुविधाए बेघर लोगो को उपलब्ध करवानी चाहिए |जरुरी है की बेघर लोगो के सहायता प्रयासों को तेज किया जाए |

 

Comments

Popular posts from this blog

LeadArk Review Hindi 2020- Earn Daily 3000 Rs From Home

GoTask App Review in Hindi (Daily Earn 2500 Rs. )

What is tally