Posts

Showing posts from October, 2017

सकारात्मक विचारों की शक्ति

विचारों में भी बहुत शक्ति होती है , हालांकि कुछ लोग इस तथ्य से परिचित न होने के कारण बिना सोचे समझे कुछ भी सोचते विचारते रहते है | जिसका हमारे जीवन पर बहुत ही गहरा प्रभाव पड़ता है | विचार एक प्रकार का आंतरिक संवाद है ,जिसे हम अपने आप से करते है | विचार करते समय हम जिन भावो का चयन करते है ,उनका हमारे जीवन पर बहुत ही गहरा प्रभाव पड़ता है क्योंकि व्यक्ति जैसा सोचता है ,वैसा ही बन जाता है | जिस तरह से धनुष से तीर छोड़ा जाता है , उसी तरह मुख से निकले शब्दों के तीर भी वैसा ही प्रभाव डालते है | अशुभ भावनाओं से कहे गए शब्द अशुभ प्रभाव डालते है और ठीक वैसे ही शुभ भावनाओ से कहे गए शब्द मनुष्य के जीवन को भी बदल कर रख देते है | हमारा जीवन चुनौतियो और संघर्षो से भरा हुआ है और अक्सर इन परीस्थितियो में हम निराशा व् हार का सामना करना पड़ जाता है जिससे हम भावनात्मक रूप से कमजोर हो जाते है | मनोवैज्ञानिक कहते है की हमारा चेतन मन एक समय में एक ही तरह के विचारो को पकड़ता है , ये विचार सकारात्मक या नकारात्मक हो सकते है और जिस तरह के विचार मन में लंबे समय तक बने रहते है ,वैसे ही हम बन जाते है इसलिए मनोवैज्ञानिक

मानव शरीर की विधुतीय क्षमता Electrical Current in Human Body

Image
मानवीय काया की क्षमता एवं प्रभाव अद्भुत एवं आश्चर्यजनक है | सामान्य – सी दिखने वाली इस  काया में हैरतअंगेज एवं चमत्कारी प्रभाव परिलक्षित होते है | कुछ इंसानों में इतनी अधिक विधुत होती है कि उन्हें  विधुत मानव की संज्ञा के पुकारा जाता है | विधुत मानव आने वाले पदार्थो को प्रभावित करती है जैसे लोहे को छूने से उसमे करंट दोड़ने लगता है और लकड़ी को छूने से उसमे आग लग जाती है | किसी व्यक्ति के शरीर में इतनी विधुतीय शक्ति संचित हो की उसके छूने भर से बिजली का बल्ब जगमगा उठे – यह बात भले ही अटपटी लगती है , पर है सच | यह सच मास्को निवासी लैरिन कैप के साथ घटित हुआ है | उसके शरीर में इतनी विधुतीय ऊर्जा है की पंखे का तार उसमे छु भर जाए तो पंखा स्वत चलने लगता है | यदि कैप माइक्रोवेव के तार को हाथ भर लगा दे तो वह चलने लगता है | वह कागज या रबर को इसलिय नहीं छूता क्योकि उसके छूने से वे जल जाते है | कैप के शरीर में प्रवाहित विधुत के साथ अद्भुत बात यह है की वह अपने अंदर की विधुतीय शक्ति को इच्छा अनुसार चालू या बंद कर सकता है | इसी तरह इंग्लैंड के लन्दन शहर में रहने वाली महिला पोलिन शो को चलता फिरता बिजलीघर

विश्वास ही व्यक्तित्व विकास का आधार

विश्वास हमारे व्यक्तित्व की ऐसी विभूति है जो आश्चर्यजनक ढंग से हमसे बड़े से बड़े और महान कार्य करा लेती है | जीवन में विश्वास के दो रूप है – आत्मविश्वास और ईश्वरविश्वास | ये  एक ही सिक्के के दो पहलू है , परन्तु विश्वास यों ही पैदा नहीं हो जाता | विचार और भाव की ऊर्जा जहाँ केंदित और सघन हो जाती है तो वहाँ विश्वास पैदा होता है | ऐसा विश्वास अत्यंत दृढ़ ,अविचल और अडिग होता है | यह डिगता नहीं क्योंकि विचारो की ऊर्जा कंपित नहीं होती है| ऐसा विश्वास यदि परमपिता परमात्मा के पावन चरणों में निछावर हो जाय तो व्यक्ति स्वयं को बलिदान कर देता है ,परन्तु अपने विश्वास को नहीं | विश्वास वो नही , जो किसी भी आघात से टूटने – बिखरने लगे विश्वास उस टिमटिमाते दीपक की लौ नहीं , जो फूंक मारने से भी कंपित हो जाय ,बल्कि वह तो दावानल है , जो आँधी और तूफान से बुझने के बजाय और भी प्रज्वलित हो उठता है | विश्वास की प्रबलता एवं दृढ़ता की विपरीतताओ और चुनोतियो में ही परीक्षा होती है | सुदृढ़ विश्वास किसी भी चुनोती से घबराता नहीं , बल्कि उससे पार पाने के लिए अपनी राह निकालकर आगे बढ़ जाता है | विश्वास यदि प्रबल एवं प्रखर हो

सब्जियों और फलों के रस के फायदे

सब्जियों और फलो के रस की उपयोगिता   चाय,मदिरा ,या अन्य बाजारू सोफ्ट ड्रिंक्स स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है  यदि इन सब पेय पदार्थ  को त्याग दे तो आखिर पिए क्या ? क्या कोई ऐसा पेय पदार्थ भी  है जो हानिकारक नहीं है ? जी हाँ ऐसे अनेक पेय पदार्थ है , जो न केवल लाभदायक है अपितु अनेक रोगों के उपचार का भी कार्य करते है आइये जानते है कुछ प्राकतिक रस की उपयोगिता के बारे में - खून को साफ करने के लिए , नींबू ,गाजर ,टमाटर और सेब का रस पीना चाहिए | ब्लड प्रेशर कम होने पर मौसमी का रस पीना फायदेमंद है | औरतो को अगर माहावारी के समय तकलीफ हो ,तो अंगूर व् अन्नानास का रस का सेवन करने से आराम मिलता है | बवासीर रोग होने पर मुली के रस का सेवन करना चाहिए | शरीर का वजन कम करने के लिए तरबूज , नींबू  व् व् अन्नानास का रस लेना चाहिए | पथरी होने पर गाजर ,सेब , और ककड़ी का रस लाभदायक है | केंसर रोग में गाजर व् अंगूर के रस का सेवन करना चाहिए | शुगर की बिमारी में गोभी , गाजर , करेले व् पालक का रस ले | अंगूर ,सेब ,संतरा व् मौसमी का रस पीलिया रोग को दूर करने में सहायक है | खून बढ़ाने के लिए

शहरों का अस्तित्व गाँव की खुशहाली में

शहरों का अस्तित्व गाँव की खुशहाली में नई अर्थनीति के अनुसार यदि औद्योगिक पूंजीवाद में भारतीय गाँवों का भविष्य ठीक नहीं है तो प्रश्न उठता है की की इससे शहरों का कोई अच्छा भविष्य दिखने वाला है ? आए दिन शहरों की समस्या भी गंभीर होती जा रही है जो शहर कुछ कम आबादी वाले थे वे अब लाखो की संख्या में बढते जा रहे है , फलस्वरूप उनकी आवश्यकताओं को पूरा कर पाना नगर निगमों के लिए असम्भव होता जा रहा है | बिजली , पानी , मकान की किल्लत , बढ़ते यातायात की घिचपिच व प्रदुषण से वातावरण नरक होता जा रहा है | आज की स्थिति में शायद ही कोई शहर साफ सुथरा हो , शहरों में गाँव से भागती आबादी का दबाव बढता जा रहा है , जो शहरों को गन्दा तथा बदसूरत बनाता जा रहा है शहरों में विषमता तो पहले से ही थी , जो अब दिन व् दिन बढती जा रही है , जिसके कारण अन्याय समस्याओं के साथ अपराधो में भी निरंतर बढोतरी हो रही है | इससे यह स्पष्ट होता है की अगर देश के गाँवो को सुखी नहीं रखा गया तो , देश के शहर भी सुखी नहीं रह पाएंगे | इस पीड़ा के चलते पूरा देश भयावह समस्या से ग्रस्त हो जायेगा , अत: जरुरी है की समय रहते इस पर विचार कर शहरों के साथ

क्रोध पर ऐसे करे नियंत्रण How to Control Anger Issues

क्रोध से सभी परिचित है  किसी – किसी को क्रोध इतना तेज आता है की बाद में वह स्वयं पर शर्मिंदा होता है | हर कोई अपने क्रोध पर नियंत्रण करना चाहता है , लेकिन क्रोध आने पर नियन्त्रण करना तो दूर की बात , वह कुछ भी सोचने की स्थिति में नहीं  रहता | इसलिए तो कहते है की क्रोध का अंत पछतावे पर होता है | क्रोध आने पर व्यक्ति के बनते हुए  काम भी बिगड़ जाते है | क्रोध की भीषण स्थिति में किसी का कुछ भला नही होता ,केवल व्यक्ति के अहंकार की पुष्टि होती है ,वह दुसरो पर अपना रौब झाड़ता है ,अपने बल का प्रदर्शन करता है और यदि व्यक्ति क्रोध की स्थिति में कुछ कर नहीं पाता , तो स्वयं का ही नुकसान करता है | क्रोध हर व्यक्ति की शारीरिक व् मानसिक सेहत के लिए बहुत नुकसान दायक है | कभी –कभी यह रिश्तो के टूटने का कारण बनता है ,जब हम क्रोध को समझ नहीं पाते ,तो अक्सर निकटवर्ती लोगो को सर्वाधिक दुःख पहुंचाते है | क्रोध के दौरान मुख्य रूप से तीन बाते साथ होती है पहली बात यह है की क्रोध एक भावना है | दूसरी बात क्रोध एक व्यवहार की श्रंखला है और तीसरी बात क्रोध विचारों की श्रुंखला है | क्रोध के मनोविज्ञान  को समझने के लि

व्यक्तित्व विकास स्वामी विवेकानन्द के विचारो पर आधारित

जीवन का लक्ष्य सुख नहीं वरन ज्ञान है ! मनुष्य जीवन का अंतिम लक्ष्य सुख नहीं वरन ज्ञान है सुख और आनन्द दोनों ही विनाशी है अत: सुख को चरम लक्ष्य मान लेना भूल है | संसार से सभी दु:खो का मूल यही है की मनुष्य मूर्खता वश सुख प्राप्ति को ही अपना लक्ष्य मान लेता है मनुष्य का परम ज्ञान आध्यात्मिक ज्ञान ही माना जाता है इस आध्यात्मिक ज्ञान से ही परमानंद की प्राप्ति होती है | सर्वप्रथम स्वयं को बदलो – जिस मनुष्य ने स्वयं पर नियंत्रण कर लिया है , उस पर संसार की कोई भी भौतिक जटिलता प्रभाव नहीं डाल सकती है , उसके लिए किसी भी प्रकार की दासता शेष नहीं रह जाती | उसका मन स्वतंत्र हो जाता है और केवल ऐसा ही व्यक्ति संसार में रहने योग्य है | निराशावादी कहते है की “ संसार कैसा भयानक है , कैसा दुष्ट है ” आशावादी कहते है , “ अहा ! संसार कितना सुन्दर है , कितना अद्भुत है “ कर्म कैसे करे – यदि कोई मनुष्य नि: स्वार्थ भाव से कार्य करे , तो क्या उसे कोई फल प्राप्ति नहीं होती ? असल में तभी तो उसे सर्वोच्च फल की प्राप्ति होती है अत : नि:स्वार्थता अधिक फलदायी होती है ,केवल अभ्यास करने का धेर्य नहीं होता | हम लोग जि

बच्चो में निराशा के कारण Causes Depression in Children

चिंतन हमारे विचारो , क्रियाकलापों व् व्यवहारों की जननी है | विधेयात्मक चिंतन हमे स्वस्थ ,उतम व् उच्च स्तर का जीवनयापन करने की प्रेरणा देता है और निषेधात्मक चिंतन हमे पतन , पराभाव और निकम्मा बना देता है | आजकल परीक्षाफल आने से पूर्व या परीक्षा में कम अंक मिलने पर बच्चो में निराशा छाने से वे अतिवादी कदम उठाते है |  बच्चो में आखिर इतनी निराशा हताशा का क्या कारण है जिससे वे इतने कुंठाग्रुस्त हो जाते है ? ये एक गंभीर विषय है क्योंकि किसी परीक्षा में अंक आने पर उनका जीवन समाप्त नही हो जाता | बच्चो में बढती हुई इस प्रवृति का मुख्य कारण उनको मिलने वाली उद्देश्य विहीन और असंतुलित शिक्षा ही है|  ऐसे में माता –पिता के साथ ही शिक्षको की यह नैतिक और सामाजिक जिम्मेदारी है की वह बच्चो को केवल परीक्षा तथा करियर के लिए ही न तैयार करे उन्हें जीवनोपयोगी ज्ञान के साथ ही साथ सामाजिक और आध्यामिक शिक्षा प्रदान कर उसे सम्पूर्ण जीवन की परीक्षा के लिए तैयार करे , ताकि उसके सम्पूर्ण व्यक्तित्व का विकास हो सके |  इसके साथ ही बच्चो को यह समझना होगा की जिन्दगी ईश्वर की अनमोल धरोहर है और उसे कायरो की तरह बर्बाद न कर

How to Become an Optometrist | Optometrist Career, Salary

Image
आँखों की जांच करके चश्मा या लेंस लगाने की सलाह देने वाले ऑप्टोमेट्रिस्ट बनकर आप अपना बेहतरीन करियर बना सकते है | प्रदुषण और असंतुलित खान- पान की वजह से आँखों की समस्या लगातार बढ़ रही है आँखों की देखभाल के लिए लोग मेडिकल टेक्नोलोजी का सहारा ले रहे है| अब नोर्मल फिजीशियन के अलावा इस फील्ड में नए स्पेशलिस्ट का रोल उभर रहा है | जो आँखों की जांच करके चश्मा या लेंस लगाने की सलाह देते है | इस विशेषज्ञ को ऑप्टोमेट्रिस्ट कहा जाता है | आज पुरे भारत  देश भी बड़ी  संख्या में ऑप्टोमेट्रिस्ट की डिमांड है | आप भी इस फील्ड में अच्छा करियर बना सकते है | नेचर ऑफ़ वर्क - [caption id="attachment_840" align="aligncenter" width="640"] photo source- http://www.wellnesspointe.org/[/caption] ऑप्टोमेट्रिस्ट या ऑप्टोमेट्रिक फिजीशियन आँखों की जांच में इस्तेमाल होने वाले उपकरणों के रखरखाव के विशेषज्ञ होते है | वे ऑप्टिकल उपकरणों से उपचार करते है | वे ब्लाइंडनेस ,दूर और नजदीक की कम रोशनी , मायोपिया जेनेटिक प्रोब्लम का इलाज करते है | योग्यता - इस कोर्स के लिए कम से कम योग्यता विज्ञान स्ट्

विदेशी कंपनियों का भारतीय संस्कृति पर आघात

हमारे भारत देश में अनेक विदेशी कंपनिया अपने उत्पादन बेच कर हमारे देश की आर्थिक स्थिति पर बड़ा प्रभाव डाल रही है जिसके कारण हमारा विदेश व्यापार घाटा बढता जा रहा है विदेश घाटा का तात्पर्य है की किसी देश में हम किन्ही वस्तुओ का आयात करते है तो इसमें जो राशी लगी उसकी तुलना में उसी देश को उसी देश को जब अपने देश से वस्तुओ को निर्यात करते है तो उसकी कुल राशी ,इन दोनों की तुलना करते है तो जिस देश को घाटा हुआ वह उस देश का सम्बंधित देश के साथ व्यापार घाटा कहलाता है | आज भारत सबसे ज्यादा व्यापार घाटा चीन के साथ है जो वार्षिक ४० अरब डॉलर का है | विदेशी निवेशक भारत में उधम लगाकर जो कुछ वे अपने उत्पादों व् ब्रांडो का उत्पादन हमारे यहाँ कर रहे है इसके सांस्कृतिक दुष्प्रभाव भी हमारे देश पर भारी पड़ रहा है | उदाहरण के लिए – कोरिया की भारत में कार्यरत एक कंपनी ने कुछ वर्ष उसके कर्मचारयो को यह आदेश दिया की उनके यहाँ आफिशियल ड्रेस ‘ स्कर्ट ‘ है और इसलिए उन्हें साड़ी या सलवार सूट की जगह पर स्कर्ट पहन कर आना है | बहुत सारी महिलाये ऐसी भी होती है जो घर से स्कर्ट पहन के नहीं जाती तो वहा चेंजिंग रूम में जाकर

संगीत पर निबंध - संगीत लोगो को अधिक बुद्धिमान और चतुर बना सकता है

ब्रिटश साइकोलोजिस्ट डॉक्टर एम्पा ग्रे का मानना है की संगीत हमे ज्यादा बुद्धिमान बनाता है | डॉक्टर एम्पा ग्रे ने पाया की कुछ खास पॉप संगीत लोगो को अधिक बुद्धिमान और चतुर बना सकता है | उनके अनुसार लोग स्वाभाविक तौर पर सुकून देने वाला गीत – संगीत पसंद करते है , लेकिन प्रति सेकंड ५० से ८० स्पंदन वाले पॉप गाने मस्तिक को अधिक आसानी से सीखने और नए तथ्यों को याद करने को प्रेरित करते है | पश्चिमी गीत – संगीत पर आधरित अपने अध्धयन के आधर पर ग्रे ने कहा की पढाई के दोरान पॉप संगीत सुनने से , मस्तिष्क को तार्किक तरीके से विचार करने में मदद मिलती है | ग्रे लन्दन स्थित ब्रिटिश कोनिग्तिव बिहेवियरल थैरेपी एंड कोउन्स्ल्लिंग सर्विस में विशेषज्ञ के रूप में कार्यरत है | उनके अनुसार पॉप और रोक गाने जोश भाषा , कला और नाटक समेत कई विषय में रचनात्मक प्रदर्शन को उन्नत बनाने में सहायक है | उनका कहना है की पढाई के दौरान शास्त्रीय संगीत सुनने वाले विद्यार्थी गणित में बेहतर प्रदर्शन करते है | ये भी पढ़े - एकता की अद्भुत शक्ति पर निबंध  पॉप गायिका केटी पेरी का फायर वर्क , पॉप गायिका मिली है का वि कांट स्टाप और पॉप

क्या होती है इंटरनेट की काली दुनिया Dark Web Stories

21 वर्षीय रोस अलब्रिट एक प्रशिक्षित भौतिकविद और इंजिनियर था और अपने जीवन काल में  बहुत उधम कर चुका तथा जिसको चलाने हमेशा असफल रहा  ,अंततः अपने एक मित्र के साथ मिलकर एक कम्पनी की स्थापना की जिसका नाम रखा गया 'गुड वेगन '   वह  पुरानी किताबे जमा करते और अमेजान जैसी वेबसाइट पर  बेचते थे | शीघ्र ही उनका यह धंधा चल निकला और उनके गोदाम में 5०,००० किताबे हो गई , 5 कॉलेज के विधार्थी अपने खाली  समय में उनके पास काम  भी करने लगे | वर्ष २०११ की एक रात जब वह अकेला गोदाम में  काम कर रहा था , अचानक किताबो से भरा एक शेल्फ़ दुसरे शेल्फ़ पर जा गिरा फिर शुरू होआ एक डोमिनो प्रभाव , एक दुसरे से टकराते हुए सभी पुस्तके से भरा शेल्फ़ गिरते चला गया | उसी दिन से गुड वेगन कंपनी समाप्त हो गई | अब वह कुछ बडा काम करना चाहता था| इसी दौरान उनकी दिलचस्पी हुई बिट कोइन में जो एक डिजिटल करन्सी है | बिट कोइन के ऊपर किसी बैंक या राष्ट्र का नियत्रण नही है | इसी से उसे विचार आया की ऐसी  वेबसाइट क्यों नही बनाई जाए जहा लोग एसी वस्तुए खरीद और बेच सके जो अन्यथा गैर क़ानूनी है , जहा खरीदारों और विक्रेता की पहचान ना हो सके और

राजस्थान के प्रमुख मेले एवं त्यौहार Rajasthan Fairs And Festivals Hindi

Image
राजस्थान अपनी कला व संस्कृति लोक संगीत व नृत्य,अजेय दुर्ग भव्य प्रसादो  , रंगीन  उत्सव व मेलों के लिए भारत में ही नही विदेशी में भी प्रसिद्ध है | आज राजस्थान में विदेशो से भारी मात्रा में पर्यटक यहाँ की विशेषता को देखने आते है | मरू महोत्सव जैसलमेर ; होली से एक महिना पूर्व पूर्णिमा को जैसलमेर में राजस्थान पर्यटन विकास निगम दवारा इस महोत्सव का चार दिन तक आयोजन बहुत बड़े पैमाने पर किया जाता है | सीमा सुरक्षा बल के जवानो का सजे धजे ऊँटो का काफिला , ऊंट गाडियों पर सजी झाँकियो में वाद्ययंत्रो के साथ कलाकारों के दल चटकीले रंगीनी वेशभूषा में नृत्य करती महिलाओ वह पुरषों की टोलिया को देखकर पर्यटक ख़ुशी से झूम उठते है | बादशाहों का मेला ब्यावर ; अजमेर तथा ब्यावर में बादशाह की सवारी निकली जाती है , जिसमे देखने दूर दूर से लोग  आते है | बादशाह के आगे बीरबल नृत्य करते हुए निकलता है तथा बादशाह  को ट्रक में  बिठाकर नगर के प्रमुख बाजारों में निकालते है | सडको के  दोनों तरफ बैठे हुए नर  नारियो पर बादशाह  गुलाल  की पूड़ियो फेकता हुआ गुजरता है | जिसे सडके गुलाल  से रंग जाती  है | रात्रि में चंग , ढोलक बज

कम पैसे में बिजनेस शुरू करने के 4 बेस्‍ट आइडिया

Image
अगर आप उन लोगो में से है जो अपनी 10 से 7 बजे तक की नौकरी से तंग आ चुके है और खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते है तो आपको कुछ अलग बिजनेस आइडिया के बारे में सोचना होगा आपको ऐसे काम के बारे में सोचना होगा जिससे आप प्यार करते हो और जिस काम में आप एक्सपर्ट हो तो आप अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सके और खुद का वर्किंग टाइम एवं सेलरी तय कर सके |  साथ ही आपको यह पता करने की जरूरत है की इसे शरू करने में आपको ज्यादा लागत ना लगानी पड़े आपको ऐसे बिजनेस को शुरू करने की जरुरत है जिसके लिए आपको एकदम से अपनी नौकरी को न छोडनी पड़े | इससे आप कुछ समय के लिए नौकरी के साथ अपना बिजनेस भी कर सके | यदि आप एकदम नौकरी छोड़ देंगे तो आपको पैसे की दिक्कत आ सकती है| अब हम आपको ऐसे ही कुछ बिजनेस आइडियाज के बारे में जानकारी देंगे जिन्हें आप कम पैसे या फ्री में शुरू कर सकते है | ग्राफिक डिज़ाइनर – [caption id="attachment_775" align="aligncenter" width="612"] photo source- https://www.careerfaqs.com.au[/caption] अगर आप एक डिज़ाइनर है , आपके पास कंप्यूटर और आप डिज़ाइन सॉफ्टवेर पर काम करना जानते हो तो आ

अध्यात्म और विज्ञान के समन्वय से होगा देश का विकास

प्रसिद्ध वैज्ञानिक बर्टन रसेल के अनुसार यदि दुनिया को बचाना है तो हमें शांति अध्यात्म व विज्ञान के समन्वय के रा स्ते पर चलाना होगा क्योकि अध्यात्म के बिना विज्ञान अँधा है और विज्ञान के बिना अध्यात्म लंगड़ा | दोनों के समन्वयात्मक शोध कार्यो से ही मानव का कल्याण संभव है, हम केवल भौतिकवादी सुखो की ओर अंधानुकरण कर न दोड़े बल्कि अध्यात्मवादी ,मानवतावादी एवं सवेदनशील जीवन जीने का लक्ष्य बनाए क्योकि ये दोनों एक दुसरे के पूरक है न की विरोधी | ज्ञान की विशेष धारा का नाम ही विज्ञान है ज्ञान ही अपने आप में शक्ति है | जिसके पास ज्ञान है वह अपने बुध्दि बल के आधार पर शक्तिशाली कहलाता है | विज्ञान जो की ज्ञान से ही एक विशेष स्तर एवं विशेष दिशा में प्रयोग के आधार पर अर्जित किया जाता है, निशिचत रूप से अधिक शक्तिशाली है | विज्ञान के अंतर्गत भोतिक ,रसायन एवं जीवविज्ञान तथा कृषि चिकित्सा भूगर्भ विज्ञान आदि कई शाखाएँ आती है वैज्ञानिक भी एक ऋषि से कम त्याग एवं तप नही करता रात –दिन किसी चिंतन ,मनन एवं प्रयोग के सहारे वे नये नये खोज करने में सफल होते है | आज तो संसार परिवहन  चिकिसा अन्तरिक्ष आदि क्षेत्रो में

यूं जान सकते है एंड्राइड फ़ोन की रियल लोकेशन

Image
अगर आपका स्मार्ट फोन गुम हो गया है और काफी ढूंढने पर भी नहीं मिल रहा हो , तो आज हम आपको एक ऐसे एप्लीकेशन के बारे में बतायेंगे जो आपके फोन की रियल लोकेशन तलाशने में मदद करेगा | आप उसकी रियल लोकेशन मैप पर आसानी से देख सकते है आप लम्बे समय तक फोन की रिंग बजा सकते है भले ही वो साइलेंट मोड़ पर क्यूँ न हो |  अब जानते है की आप कैसे फोन की लोकेशन पता कर सकते है | Google's Find My Device-  यह एक एंड्राइड एप्लीकेशन है इसकी मदद से हम खोया हुआ फोन और  टेबलेट की लोकेशन देख सकते है | इस एप्प का यूज़ करने से पहले आपको अपने स्मार्टफोन में क्या क्या होना जरुरी है जानिये - सबसे पहले आपके फोन जो गुम  हो गया है उस फोन का गूगल अकाउंट से लिंक होना जरुरी है और आपको गूगल अकाउंट के यूजर नाम और पासवर्ड पता होना जरुरी है | और मैं बात आपके फोन की सेटिंग में लोकेशन टेब चालू हो , अब आप उस फोन का स्थान ट्रैक कर सकते हैं और इसे दूरस्थ रूप से लॉक कर सकते हैं या मिटा सकते हैं | इस एप्लीकेशन को डाउनलोड करने के लिए आप इस लिंक पर जा सकते है -   Google's Find My Device इसके बाद, आप अपने Google खाते से लॉग इन करें आपक

मनचाही लड़की को कैसे पटाए ! कुछ कारगर टिप्स

टिप 1.  आप जिस लड़की से प्यार करते हैं जब वह स्कूल या कॉलेज जाने के लिए निकल रही हो तो आप उसके साथ साथ जाए और उनसे बात करते हुए भी जाएं ऐसा लगातार चार दिनों तक कीजिए और पांचवे ही  दिन उस लड़की को इग्नोर करना शुरु कर  दीजिए | सातवे दिन वह लड़की आपसे जरूर पूछेगी कि दो दिन से आप साथ क्यों नहीं आए और इस तरह आपकी बात शुरू हो जाएगी | टिप 2.   आप सबसे पहले लड़की की तरफ देखे  और जब वह लड़की आप की तरफ देखें तो उसे हाथो से इशारा करे  कि उसकी गाल पर कुछ है | और जब वह गाल को साफ करें तो दोबारा इशारे से बताए कि इस गाल  पर नहीं बल्कि दूसरे गाल पर है | यह बहुत ही अच्छा और असरदार टिप है लड़की को पटाने का ,  जिसे पूरी दुनिया में  प्रयोग   किया जाता है | टिप - 3  लड़की का दिल जीतने के लिए उसके भविष्य और प्रेजेंट की प्लानिंग  करे और लड़की के जिन्दगी में आने वाली हर समस्या को हल करने के लिए आप अपने आपको उसमें  पूरी तरह इनवॉलव होकर मदद करे | जिससे लड़की आपको अपना समझने में देर नहीं करेगी और लड़की पटाने  में इससे आपको बहुत आसानी होगी | टिप 4   यदि लड़की की उम्र आप से कम हो फिर भी आप उनसे हम्रेशा  “आप” कह कर ही बा

अवचेतन मन की शक्ति -जो सोचोगे वही पाओगे

यह दो अक्षरों से बना शब्द  '  मन  ' बड़ा ही चमत्कारी है यह कुछ भी कर सकता है समस्त धर्मो के साथ साथ विज्ञान भी  मानता है की मन को साधकर हम दुनिया का कोई भी सुख प्राप्त कर सकते है चाहे वो आर्थिक हो , शारीरिक हो , मानसिक या भौतक | यह मन की शक्ति ही थी जिसने किसी को देवता , किसी को संत , और किसी को तीर्थकार बना दिया | सारे आविष्कार सारी खोजे इसी मन की शक्ति की देन है | मन की शक्ति से कोई भी साधारण से असाधारण बन सकता है | महात्मा गाँधी एक साधारण व्यक्ति थे , मगर अपने मन को साध कर वे विश्व के महान तम  व्यक्तित्व हो गये , उनके पास कौनसा धन था ? सिपाही या अलादिन का चिराग था , कुछ भी न होने के बावजूद इन्होने आजादी के जंग में महान काम करके दिखाया , इसी मन की शक्ति की बदौलत | महाभारत के संजय के पास कौनसा  यन्त्र था जो वो युद्ध का आँखों देखा हाल ध्र्तराष्ट और गांधारी को सुना देते थे ,वो मन की शक्ति ही तो थी | अमिताब बच्चन को कौन नही जानता उन्हें कभी उनकी लम्बी टांगो और खराब आवाज के कारण अयोग्य घोषित कर दिया गया था .वे अपमानित होते थे, लेकिन मन की शक्ति से उन्होंने अपनी विपलता को सफलता में

एंटरप्रेन्योर बनना है तो भूलकर भी न बनाए ये 5 बहाने

जिन्दगी में सफलता पाने के लिए कई बार रिस्क उठाने पड़ते है रिस्क अपने साथ कई चुनौतियां भी लाते है | जो व्यक्ति इन चुनौतियों को पार कर लेता है , वह निशिचत कामयाब होता है | ऐसा ही बिजनेस में भी होता है कोई भी बिजनेस ऐसा नहीं है जिसे बिना रिस्क लिए सफल बनाया जा सके | किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले रिस्क तो लेना ही पड़ता है | चाहे वह रिस्क फंडिंग का हो , या नौकरी छोड़ने का | हालांकि बहुत से लोग सिर्फ इसलिए अपना बिजनेस कभी शुरू ही नहीं कर पाते क्योंकि वे अपनी जमी - जमाई नौकरी नहीं छोड़ना चाहते है | अगर आप भी बिज़नेस शुरू करना चाहते है लेकिन नौकरी नहीं छोड़ना चाहते तो याद रखे की बिना रिस्क लिए आप कभी कामयाब नहीं हो सकते है | अगर आपका बिज़नेस आइडिया अच्छा है तो आप भी सफल एंटरप्रेन्योर   की लिस्ट में शामिल हो सकते है | हालांकि इसे मुमकिन बनाने के लिए आपको रिस्क लेकर नौकरी न छोड़ने के इन बहाने को न बनाए | बॉस को धोखा नहीं दे सकता -  आपके बॉस हमेशा आपका साथ देते है उन्होंने हाल ही में आपको प्रोमोशन दिया है और आपको एक महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट का इंचार्ज भी बनाया है आपको लग रहा है की अगर ऐसे में आप नौकरी

काम के दौरान खुद को ऐसे रखे पॉजिटिव

ऑफिस में काम के दौरान जरुरी है की आप हमेशा सकारात्मक रहे ताकि आपकी प्रोडक्टिवटी  बनी रहे | जब आप पॉजिटिव रहते है तो चीजो के बारे में बेहतर ढंग से सोच पाते है साथ ही पॉजिटिव रहने  से आप बेहतर निर्णय ले पाते है जो की एक एक एंटरप्रेन्योर के लिए बहुत जरुरी है | हालांकि कई बार ऐसी परीस्थिती भी आती है , जब सकारात्मक रहना बहुत कठिन लगता है | इन कुछ टिप्स से आप पॉजिटिव रह सकते है – सकारात्मक बाते करे – ऑफिस में हमेशा मुस्कुराते रहे और सकारात्मक बात करे | यदि आपके चेहरे पर मुस्कुराहट रहगी तो आप खुद ही चीजो को पॉजिटिव तरीके से देखेंगे | एक बॉस के तौर पर चीजो को सकारात्मक तरीके से देखने का प्रयास करे | चीजो या लोगो में कमी देखने के बजाय उनकी अच्छाईयां देखे| यह पॉजिटिव एटीटयूड से आपको जीवन में सफल बनाएगा | खुद को शाबासी जरुर दे – किसी प्रोजेक्ट में सफलता मिलने पर स्टाफ के साथ –साथ  खुद को भी शाबासी जरुर दे | अगर आपने कुछ अच्छा किया है तो खुद को रिवार्ड जरुर दे | ऐसे में आप खुद को ट्रीट दे सकते है जैसे अपनी पसंद का खाना खा सकते है या काम खत्म होने के बाद मन पसंद जगह पर घुमने जा सकते है | इससे आपको

बहुत गहरा है इन बेघर लोगो का दर्द

बहुत गहरा है इन बेघर लोगो का दर्द अपने ठौर - ठिकाने का  इंतजाम न होने के बावजूद पेट की मजबूरी अधिक संख्या में लोगो को गाँवो से शहरों की और ले जा रही है | ऐसे बेघरो की सहायता के लिए इंतजाम बहुत जरुरी है | दिन भर मेहनत कर जब कोई बहुत थक जाता है , तब उसे यह सोच के बहुत सांत्वना मिलती है की अब तो घर पहुंचकर आराम ही करना है कल्पना कीजिये अपने देश के उन लाखो लोगो की जिनके लिए कंपकपाती ठण्ड को या मुसलाधार वर्षा ,छत के नाम पर खुला आसमान है और बिछोने के नाम पर फूटपाथ शहरों में सबसे अधिक चिंताजनक स्थिति में रहने वाले बेघर लोग ही है | वे एक और मौसम की मार सीधे अपने शरीर पर सहने को मजबूर है दूसरी और उनमे भूक का प्रकोप भी अधिक है | कुपोषण के तो सभी शिकार है बीमारी सहने की क्षमता कम है पर फूटपाथ पर रहेगा उसे बीमारी व् दुर्घटना कीआशंका तो अधिक रहेगी यही कारण है की देश में हजारो बेघर लोग असमय मारे जाते है इस मौत से भी ज्यादा दर्दनाक कहानी उन बच्चो -बच्चियो की जिन्हें फुटपाथ की जिंदगी यौन उत्पीडन और नशे के ऐसी अंधी गली में धकेल देती है जिससे वापसी बहुत कटिन है वैसे ही शहरों में महिलाओं की असुरक्षा इतनी

जिन्दगी में सफलता का असली मतलब समझिये

एक बड़ा सुंदर सा शब्द है , सफलता  , कामयाबी ,उन्नति या प्रगति ऐसे कई नाम है इसके | हमे बचपन से सिखाया जाता है की सफल बनो ,कामयाब बनो , लेकिन क्या होता है सफल होना ? कामयाब होना क्या मायने होते है कामयाबी के ,सफलता के या हम किसे सफल इंसान कहेंगे ? हम जब अपने आस- पास के माहौल को देखते है तो हमे सिर्फ और सिर्फ अंधी दौड़ में बेमतलब दौड़ते -भागते इंसान ही नजर आते है छोटी -छोटी खुशियों को कुचलते नजर आते है | आखिर इंसान पाना क्या चाहता है ,उसके जिन्दगी के मायने क्या है ? मित्रो , यह जिन्दगी क्या है ? आप ने अक्सर इस जिन्दगी के बारे में अलग -अलग  बाते सुनी होगी | किसी ने कहा जिन्दगी - एक संगर्ष है , किसी ने कहा युद्ध है , किसी ने कहा खेल है , किसी ने कहा जुआ है , किसी ने  इसे कविता , किसी ने दर्शन कहा ..यानी जितने लोग उतनी ही बाते | आपको क्या लगता है ? जीवन संगर्ष , युद्ध या कुछ और ? मेरे हिसाब से , वास्तव में जिन्दगी एक खुबसुरत उत्सव है , आनन्द की यात्रा है , चेतनता की यात्रा है , सम्पूर्णता की यात्रा है , जिसका उधेश्य परमानन्द की प्राप्ति है , सर्व शक्तिमान में समा जाना है उस परमेश्वर ने हम सभी

सूर्य नमस्कार के लाभ | Surya Namaskar Benefits

सूर्य नमस्कार को योगासनों में सबसे अच्छा कहा गया है , यह अकेला अभ्यास ही साधक को सम्पूर्ण योग व्यायाम का लाभ पहुँचाने में समर्थ है | इसके अभ्यास से शरीर में आरोग्य ,शक्ति व् ऊर्जा की प्राप्ति होती है , साधक का शरीर नीरोग व् स्वस्थ होकर तेजस्वी हो जाता है | ये केवल योग -व्यायाम ही नहीं है बल्कि नर से नारायण बनने की पद्धति है ऋग्वेद में लिखा हुआ है  -  " सूर्यो वै आत्मा जगतस्तस्थुश्च " अथार्थ सूर्य सारे संसार की आत्मा है सूर्य ही प्रत्यक्ष देवता है जिनसे आरोग्य प्राप्त होता है इसलिए हम स्वास्थ्य , दीर्घायु के लिए सूर्य की पूजा करते है|                     अब हम जानते है की सूर्य नमस्कार करने से क्या -क्या लाभ होते है | 1.नियमित अभ्यास से विटामिन -डी मिलता है जिससे हड्डिया मजबूत होती है 2. आँखों की रोशनी एवं मन की एकाग्रता बढती है 3.शरीर में खून का प्रवाह तेज होता है जिससे ब्लड प्रेशर की बिमारी में आराम मिलता है 4.सूर्य नमस्कार का  प्रभाव दिमाग पर पड़ता है जिससे दिमाग ठंडा रहता है 5.पेट के पास की वसा को घटाकर शरीर का वजन कम करता है 6.बालो की समस्याओं में मदद गार है जैसे - बाल सफे

जब विदेशी हमारे भारत में आते हैं तो वो हमारे बारे में क्या-क्या सोचते है जानिए इस पोस्ट में

Image
दुनिया के सभी देशों में भारत का एक बड़ा नाम है  हमारा देश अपनी समृद्ध संस्कृति, व्यापक धर्मों, भाषाओं, सुंदर परिदृश्य और आश्चर्यजनक इतिहास के लिए जाना जाता है। यह कहते हुए कि हमने भविष्य के लिए संबंधित चीजों को रखने के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ किया है और समय की मांग के अनुसार आधुनिकीकरण किया है। लेकिन विदेशों में भारत के बारे में कुछ गलत धारणाएं हैं जो वे देश की यात्रा में फंसते हैं। एक नज़र देख लो- भारत में साँप के जादूगर हैं-                               source भारत में बहुत से लोग हैं जो जादूगर और साँप के जादूगर होने का दावा करते हैं, लेकिन वे भारत की आबादी का एक छोटा सा हिस्सा हैं। जब विदेशियों ने भारत का दौरा किया तो वे सभी प्रकार के हितों और व्यवसायों के साथ लोगों को देखकर आश्चर्यचकित हो जाते हैं। सभी भारतीय शाकाहारी हैं source दुनिया भर के लोगों को एक बड़ी ग़लतफ़हमी है कि भारत में सभी लोग शाकाहारी हैं, परन्तु  उन्होंने ध्यान नहीं दिया है कि आबादी का एक बड़ा हिस्सा विभिन्न प्रकार के खाद्य विकल्प हैं जिसमें गैर-शाकाहारी भोजन भी शामिल है   गायों को हमेशा सड़कों के आसपास घूमते देखा जात

क्यों अन्य देशों के मुकाबले आईफोन भारत में महंगा बिकता है?

Image
क्या आपने कभी सोचा है कि क्यों आईफोन भारत में बहुत महंगा बिकता हैं? नये ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए मोबाइल निर्माताओं के नए मॉडल के साथ नियमित रूप से नई सुविधाओं को जोड़ा जा रहा है लेकिन इसमें कोई संदेह नहीं है कि आईफोन खरीदना हर  भारतीय उपभोक्ताओं का एक सपना है लेकिन उच्च कीमत के कारण उनके सपने अधूरे रह जाते हैं। वास्तव में, यह कहना गलत नहीं होगा कि जब आईफोन खरीदने की बात आती है तो भारत सबसे महंगे देशों में से एक है। [caption id="attachment_681" align="aligncenter" width="800"] photo source-http://belgium-iphone.lesoir.be/[/caption] भारत में आईफोन की कीमत: iPhone 8 और 8 प्लस भारत में पहले से ही 29  सितम्बर को शुरू किया गया है  जबकि iPhone एक्स 3. नवंबर को शुरू किया जाएगा अब अगर हम iPhone एक्स की कीमत के बारे में बात करे तो इसकी 64 जीबी संस्करण $ 999 और  250 GB $ 1149 की कीमत है  , संयुक्त राज्य अमेरिका, जिसे दुनिया भर में सस्ती कीमत के रूप में कहा जा सकता है  रूस में इसके 64 जीबी संस्करण के लिए आईफोन एक्स सबसे महंगा फोन है, रूस के ग्राहकों को ₽79,990

तप का अर्थ है तपना ,प्रयास करना,मेहनत करना

तप का अर्थ है तपना ,प्रयास करना,मेहनत करना मिट्ठी ने मटके से पूछा , में भी  मिट्ठी और तू भी मिट्ठी , परन्तु पानी बहा ले जाता है और तू पानी को अपने में समा लेता है तेरे अंदर दिनों महीनो तक पानी भरा रहता है ,पर वह तुझे गला नहीं पाता | मटका बोला , यह सच है की में मिट्ठी | पर में पहले पानी में भीगा ,पैरो से गुंथा गया , फिर चाक पर चला , उस पर भी थापी की चोंट खाई | आग में तपाया गया | इन सब राहो पर चलने के बाद , इतनी यातनाये झेलने और तपने के बाद मुझमे यह शक्ति पैदा हुई की अब मेरा पानी कुछ नहीं बिगाड़ सकता मंदिर की चिढियो पर जड़े पत्थर ने मूर्ति में लगे पत्थर से कहा , भाई तू भी पत्थर , में भी पत्थर ,पर लोग तुम्हारी पूजा करते है और मुझे कोई पूछता तक नहीं | सुबह शाम तेरी आरती उतारी जाती है ,पर मुझे कोई जानता तक नहीं | तुम्हारे आगे लोग सिर झुकाते है ,और मुझे पांवो के नीचे रोंदा जाता है ,ठोकरे मारी जाती है | ऐसा भेद भाव  और अन्याय क्यों होता है ? मूर्ति ने जवाब दिया ,यह तो सच है की में भी पत्थर हूँ और तू भी पत्थर है | पर तू नहीं जानता है की मैंने अपने इस शरीर पर कितनी छेनिया झेली है , तुझे नहीं पता

Career Options after B.Com बीकॉम के बाद जॉब ऑरियंटेड कोर्स

अकाउंटेंट के अलावा बीकॉम के बाद कोई अन्य कैरियर विकल्प है?  यह और कई अन्य प्रश्न आपको परेशान कर सकते हैं लेकिन यह लेख आपको बहुत मदद करेगा और आपको आपकी रुचि चुनने के लिए भी मार्गदर्शन करेगा। वास्तव में वाणिज्य स्नातकों के पास बहुत सारे कैरियर विकल्प हैं लेकिन कई लोग सोचते हैं कि केवल विज्ञान स्ट्रीम में कैरियर के कई विकल्प हैं । आप  B.com के बाद पीजी कोर्स भी कर  सकते हैं । B.com पूरी होने  के बाद नीचे दिए गए कैरियर विकल्प में से अपने मन पसंद का काम कर सकते है 1. लेखाकार-  Accountant आपके स्नातक के तुरंत बाद आप एक एकाउंटेंट के रूप में काम कर सकते हैं और अधिकांश नए वाणिज्य स्नातकों ने एकाउंटेंट के रूप में नौकरी की तलाश की है । लेखाकार सभी प्रकार के उद्योगों में आवश्यक है हर कंपनी को अपने व्यवसाय चलाने के लिए लेखाकार की आवश्यकता होती है और उनकी कंपनी के लाभ और हानि का ट्रैक रखने के लिए। २ कर सलाहकार- Tax Consultant आप किसी भी फर्म के साथ कर सलाहकार के रूप में काम कर सकते हैं और कुछ अनुभव प्राप्त कर सकते हैं। बाद में आप स्वतंत्र रूप से कर सलाहकार  या अपनी खुद की फर्म शुरू कर सकते हैं 3 बैं

लक्ष्मी सेहगल की लघु जीवनी

Image
लक्ष्मी सेहगल की लघु जीवनी लक्ष्मी सेहगल [caption id="attachment_654" align="alignnone" width="300"] Photo Source- http://topyaps.com/[/caption] जन्म तिथि और जन्म स्थान: लक्ष्मी सहगल का   जन्म 24 अक्टूबर 1 9 14 मद्रास में हुआ (अब चेन्नई)। माता-पिता:  पिता एस। स्वामीनाथन एक वकील थे और माता ए.वी. अम्मुकुट्टी एक सामाजिक कार्यकर्ता थे और स्वतंत्रता कार्यकर्ता थे। प्रारंभिक जीवन:  वह एक बच्चे के रूप में अपनी मां की सामाजिक कार्यों से प्रेरित थी। वह हमेशा चिकित्सा का अध्ययन करना चाहती थी जो उसने बाद में की थी। शिक्षा:  वह मद्रास मेडिकल कॉलेज (1 9 38) से एमबीबीएस थीं। 1 9 3 9 में, उन्हें स्त्री रोग और प्रसूति में डिप्लोमा मिली विवाह:  1 9 47 में कर्नल प्रेम कुमार सहगल से उनकी शादी हुई थी और उनके साथ एक बेटी थी। कैरियर:  वह 1 9 40 में अपनी चिकित्सा कैरियर शुरू करने के लिए सिंगापुर गई, गरीब भारतीय प्रवासी मजदूरों के लिए क्लिनिक की स्थापना की। वह 1 9 43 में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के तहत भारतीय सेना में झाशी रेजिमेंट के रानी में शामिल हुए। योगदान / प्रमुख उपलब्धियां

जानिए कौनसा देश प्लास्टिक का सबसे ज्यादा प्रयोग करता है Interesting Facts About Plastic

                    प्लास्टिक के बारे में अनोखे तथ्य 1. ग्रेट ब्रिटेन में प्रतिदिन 15 मिलियन से अधिक प्लास्टिक की बोतलों का उपयोग किया जाता है, लेकिन केवल लगभग 2.5% यूरोपीय प्लास्टिक की बोतल का पुनर्नवीनीकरण किया जाता है। 2. हर घंटे 4 मिलियन से अधिक प्लास्टिक की बोतलों का उपयोग अमेरिका में किया जाता है! 3.अमेरिका प्रतिवर्ष 9 अरब से अधिक प्लास्टिक की बोतलों को बनाता है लगभग दो तिहाई भूमि के ऊपर या भस्मक में खत्म होता है। 4.प्लास्टिक की थैली, बोतलें, और अन्य कचरा जो महासागर में समाप्त होते हैं, हर साल करीब 10 लाख समुद्री जीवों को मारते हैं। 5.प्लास्टिक की बोतल दो प्रकार के प्लास्टिक से बनती है - इनमें से 23% पॉलीथीन टेरेफेथलेट (पीईटी, जो कि खाद्य पैकेजिंग, कॉस्मेटिक्स के लिए भी होती हैं) से की जाती है और उनमें से 62% उच्च घनत्व वाले पॉलीथीन (एचडीपीई, दूध, डिटर्जेंट, शैंपू, बोतलबंद पानी, रस)। 6. आधुनिक प्लास्टिक उद्योग के पिता रसायनज्ञ लियो बैकलैंड , अलेक्जेंडर पार्क, जैक्स ई। ब्रेंडेनबर्गर, केमिस्ट रॉय प्लंकेट और डैनियल फॉक्स थे। 7.2010 में, 31 करोड़ टन प्लास्टिक कचरे को संयुक्त राज्य म

ॐ के नाद से स्वास्थ्य लाभ –10 Surprising Benefits Of Chanting Om

ॐ आरोग्य का अमृत ,अध्यात्म का अनुष्ठान और ब्रहासाधना का बीज मंत्र है | यह पंच परमेष्टी का सार ,ब्रम्हा ,विष्णु और शंकर के आहान का घोतक और अतीन्द्रिय ऊर्जा से जोड़ने वाला सेतु है |  ॐ बड़ा वैज्ञानिक और आध्यात्मिक पद है इसके उच्चारण से पैदा होने वाली तरंगे हमे अनेक प्रकार के शारीरिक और मानसिक और आध्यात्मिक लाभ प्रदान करती है | ॐ तीन अक्षरों से बना है – अ उ म – “ अ “ का अर्थ उत्पन्न करना | ‘ उ ‘ का अर्थ – ऊपर उठना और म का अर्थ – मौन हो जाना | माना जाता है सृष्टी के जन्म के समय सबसे पहले एक महाध्वनि का जन्म हुआ जिसे ॐ के रूप में जाना गया | ॐ कार की साधना के तीन चरण है –  नाद ,जाप और ध्यान नाद में हम ॐ कार की ध्वनि पर अपनी मानसिकता तरंगो को केंदित करते हुए लम्बे स्वर में उच्चारण करते है | जाप में हम लम्बी गहरी साँसे खींचते – छोड़ते हुए हर साँस के साथ हम ॐ का सुमिरन करते है | इससे एकाग्रता का विकास होता है | ध्यान में हम ॐ कार की ज्योति को ललाट पर साकार कर उसमे लीन होते है | इससे हमारे अंतर्मन के दोष कटते है, मन में दिव्यता और निर्मलता का संचार होता है | अगर आप ॐ का उच्चारण किसी पिरामिड अथवा क

अक्टूबर- इस महीने के बारे में कुछ चीजें जिन्हें आप नहीं जानते

आज हम इस पोस्ट में  आपको कुछ रोमाचक तथ्य बतायेंगे जो अक्टूबर महीने के बारे में है | 1.एक अनुसंधान ने दिखाया है कि अक्टूबर में उत्तरी गोलार्ध में पैदा हुए बच्चे अन्य महीनों में पैदा होने वाले बच्चों की तुलना में थोड़ी अधिक देर तक जीवित रहते हैं। 2.2015 में एक अध्ययन में यह भी बताया गया है कि अक्टूबर और नवम्बर के बच्चों में ज्यादातर एथलेटिक होते हैं 3.अक्टूबर महीने को ब्लैक हिस्ट्री महीने, स्तन कैंसर जागरूकता महीना और गृह सुरक्षा माह भी कहा जाता है 4.अधिकतर अमेरिका के राष्टपति अक्टूबर महीने में पैदा हुए है 5.एंग्लो-सैक्सन ने  इस महीने को "विंटरफ़िलेथ" ("सर्दियों की परिपूर्णता") कहा था । जेआरआर टॉल्किन के हॉबैट्स ने इसे "सर्नरफिल्थ" में बदल दिया 6.एक  शोध में यह भी दावा किया गया है कि अक्टूबर महीने में जन्मे  बच्चों में अस्थमा विकसित होने की संभावना अधिक रहती है अक्टूबर में कुछ प्रसिद्ध ऐतिहासिक और महत्वपूर्ण तिथियां- 4 अक्टूबर 1 9 57, सोवियत संघ द्वारा पहली कृत्रिम उपग्रह का शुभारंभ किया गया। 5 अक्टूबर 1 9 47 को व्हाइट हाउस से पहला राष्ट्रपति पद के प्रसारण क

Essay On Karva Chauth Hindi करवा चौथ का व्रत

करवा चौथ सभी विवाहित महिलाओं के लिए सबसे महत्वपूर्ण त्योहार है यह एक दिन का त्योहार है जो विशेषकर उत्तर भारत में हिंदू महिलाओं द्वारा हर साल मनाया जाता है। महिलाये अपने पति की सुरक्षा और लंबे जीवन के लिए पानी और भोजन के बिना पूरे दिन उपवास रखती है। इससे पहले यह एक पारंपरिक त्यौहार था, जो कि विशेषकर भारत के राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के कुछ हिस्सों में मनाया जाता था, लेकिन अब यह सभी महिलाओं द्वारा भारत के लगभग सभी क्षेत्रों में मनाया जाता है | करवा चौथ 2017 इस साल का करवा चौथ 8 October को पूरे भारत में और साथ ही विदेशों में महिलाओं द्वारा मनाया जाएगा | करवा चौथ मुहूर्त 2017 करवा चौथ मुहूर्त समय की सही अवधि है जिसके भीतर पूजा की जा सकती है। करवा चौथ पूजा के लिए सही समय 8  अक्टूबर के 1 घंटे और 14 मिनट है। करवा चौथ की पूजा का समय 5.54 PM बजे से शुरू होगा। करवा चौथ का समाप्ति समय 7:09 PM. है करवा चौथ के दिन चाँद देखने का समय करवा चौथ के दिन चंद्रमा का समय बढ़ेगा : 8:11 PM.। करवा चौथ के दिन चंद्रमा के उदय का समय अपने पति के लंबे जीवन के लिए पूरे दिन (यहां तक ​​कि

स्कूलों में सेक्स शिक्षा का महत्व-Sex Education in Schools India

इस लेख का उद्देश्य आज की दुनिया में यौन शिक्षा के महत्व के बारे में बात करना है। दुनिया के कई हिस्सों में, भारत सहित  सेक्स शिक्षा अब भी केवल कागज पर पाठ्यक्रम का एक हिस्सा है। ऐसे कई स्कूल और बोर्ड नहीं हैं जो सेक्स शिक्षा पर विचार करते हो  और अब भी इसे वर्जित मानते हैं।  सेक्स शिक्षा स्वास्थ्य शिक्षा का एक क्षेत्र है जहां किशोरावस्था में पुरुषों और महिलाओं के प्रजनन ढांचे, रजोनिवृत्ति और जन्म के बारे में समझते है। उन्हें दो लिंग और पारस्परिक संबंधों के विकास के बदलावों में अंतर जानने और सराहना करने के लिए बनाया जाता है। इसलिए, माता-पिता और शिक्षकों के लिए इस अनिवार्य विषय के बारे में किशोरों को शिक्षित करने के लिए क्यों मुश्किल है?   कंप्यूटर और सोशल मीडिया की दुनिया में लड़के और लड़किया सेक्स के बारे में जानने के लिए बहुत उत्सुक हैं, और यह स्कूलों और माता-पिता के लिए किसी भी पत्रिका या अश्लील साइटों द्वारा किया जा रहा काम के बजाय अपने बच्चों में सेक्स की सही अवधारणाओं को शामिल करने के लिए एक महत्वपूर्ण काम है। सेक्स शिक्षा न केवल जैविक ज्ञान की दृष्टि से महत्वपूर्ण है बल्कि  यह कई आं